सुक्ष्मकाय – परऑक्सिसोम ग्लाइऑक्सीसॉम्स स्फेरोसोम (Microbodies)

Originally posted 2017-11-12 18:29:38.

Hello Biology Lovers, आज के हमारे ब्लॉग का शीर्षक है – सुक्ष्मकाय- परऑक्सिसोम, ग्लाइऑक्सीसॉम्स एव स्फेरोसोम (Microbodies- peroxisomes, Glyoxisome and spherosome)


सुक्ष्मकाय (Microbodies)


ये पादप कोशिका में एकल झिल्ली वाले छोटे कोशिकांग हैं। इनका निर्माण Endoplasmic Reticulum द्वारा होता हैं।

इनको Rhodin द्वारा खोजा गया था। ये प्रोटोजोआ, कवक, पौधे, और यकृत और वृक्क की कोशिकाओं में पाया जाता है।

सुक्ष्मकाय (Microbodies) चार प्रकार के होते हैं

  1. परऑक्सिसोम (Peroxisome)
  2. ग्लाइऑक्सीसॉम्स (Glyoxysome)
  3. स्फेरोसोम (Spherosome)
  4. लोमासोम (Lomasome)

परऑक्सिसोम (Peroxisome)


परऑक्सिसोम यकृत कोशिकाओ में एल्कोहॉल के प्रभाव को दूर करने में मदद करता हैं। इसमें 2O2 को विघटित करते है।

जंतु कोशिकाओं में परऑक्सिसोम वसा उपापचय (Fat Metabolism) तथा पेरोक्साइड उपापचय (Peroxide Metabolism) का कार्य करते हैं।

पादप

 


ग्लाइऑक्सीसॉम्स (Glyoxysome)


इनको पहली बार हैरी बीवर्स द्वारा देखा गया था। यह कवक और अंकुरित बीज तथा तेलयुक्त बीजो में पाया जाता है। जैसे – केस्टर बीज, मूंगफली बीज, सोयाबीन बीज आदि।

ये  ग्लुकोनिओजेनेसिस (Gluconeogenesis) प्रक्रिया द्वारा

ग्लाइऑक्सीसॉम्स में फैटी एसिड या वसा अम्ल को एक्सीटील Co-A में परऑक्सिसोमल β-ऑक्सीकरण एंजाइम द्वारा ऑक्सीकृत किया जाता है। Glyoxylate चक्र में ग्लाइऑक्सीसॉम्स में होता है।

ग्लूऑक्साइलिक एसिड (glyoxylic acid) की वजह से मूंगफली मीठी बन जाती है।


स्फेरोसोम (Spherosome)


ये एकल झिल्ली वाले छोटे व गोलाकार कोशिकांग हैं। जो

इसके अलावा ये पादप के के बीच पाया जाता है।

यदि यह प्लाज्मा झिल्ली के साथ जुड़ा हुआ होता है तो इन्हें Paramural body के रूप में भी जाना जाता है जिसे plasmalemmasomes कहते है।

Biology


Keywords

सुक्ष्मकाय- परऑक्सिसोम, ग्लाइऑक्सीसॉम्स एव स्फेरोसोम

(Microbodies- peroxisomes, Glyoxisome and spherosome)

सुक्ष्मकाय- परऑक्सिसोम, ग्लाइऑक्सीसॉम्स एव स्फेरोसोम

 

Free Online Quiz –